BCCI के लिए कमाई का मुख्य स्रोत बन रहा IPL इस बार हो सकता है 2000 करोड़ का मुनाफा

February 13, 2018, 12:29 PMYug Jagran
image

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

बीसीसीआई के साइड शो आईपीएल (इंडियन प्रीमियर लीग) की शुरुआत साल 2008 में हुई थी। बीसीसीआई के लिए अब यह मेगा शो कमाई का सबसे बड़ा स्रोत बनता जा रहा है। आईपीएल की वजह से आने वाले वित्त वर्ष में बीसीसीआई का सरप्लस करीब 95 प्रतिशत तक बढ़ सकता है। सीधे तौर पर कहा जाए तो इससे बोर्ड को करीब 2000 करोड़ रुपये का मुनाफा होगा।डोमेस्टिक कार्यक्रमों से बोर्ड को सिर्फ 125 करोड़ रुपये सरप्लस के रूप में प्राप्त होंगे। बता दें कि 45 दिनों तक चलने वाले आईपीएल से बोर्ड को होने वाला मुनाफा 320 दिन के अन्य कार्यक्रमों की तुलना में 16 फीसदा ज्यादा है। बोर्ड का यह मुनाफा बुनियादी ढांचे और कार्यक्रमों पर होने वाले कुल खर्च से अलग होता है।बता दें कि मौजूदा समय में बीसीसीआई के कुल सरप्लस का करीब 60 प्रतिशत उसे आईपीएल से ही प्राप्त हो रहा है। यह राशि करीब 670 करोड़ रुपये है। बोर्ड इस सरप्लस को अब 60 से 95 प्रतिशत तक बढ़ाने पर जोर दे रहा है। बोर्ड का मानना है कि इस बार उसे आईपीएल से 2017 करोड़ रुपये सरप्लस के रूप में प्राप्त हो सकते हैं जबकि पिछले फाइनेंशल ईयर में सरप्लस 400 करोड़ रुपये था।बोर्ड को उम्मीद है कि इस बार कुल खर्च के बाद उसका मुनाफा 665 करोड़ से 2142 करोड़ रुपये तक बढ़ सकता है। साथ ही इस बार उसे प्राशसनिक खर्च में भी करीब 19 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे जबकि पिछली इसके लिए 51 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

Related Posts you may like

आपका शहर

विज्ञापन

mison 2017

Like us on Facebook

विज्ञापन

mison 2017