ओमान में PM मोदी बोले- मैं चायवाला चाय से भी कम कीमत पर दिया हेल्थ इंश्योरेंस

February 12, 2018, 12:20 PMYug Jagran
image

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

तीन खाड़ी देशों की चार दिवसीय यात्रा पर निकले भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार (11 फरवरी) को ओमान की राजधानी मस्कट पहुंचे। यहां प्रधानमंत्री मोदी ने लगभग 25000 भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। पीएम के स्टेज पर पहुंचते ही भारतीय समुदाय के लोगों ने गर्मजोशी के साथ मोदी-मोदी के नारे लगाकर उनका स्वागत किया। पीएम मोदी ने ओमान में पहली बार 6 भाषाओं में भारतीय समुदाय के लोगों से नमस्कार करके भारत माता की जय के नारे लगवाए। पीएम ने अपने संबोधन में भारतीय समुदाय के लोगों से कहा कि एक लंबे अर्से से मेरा आप लोगों से मिलने का मन कर रहा था पर वो अवसर आज आया है। उन्होंने कहा कि मैं सबको विश्वास दिलाता हूं कि भारत के लिए जो सपने आप देख रहें मैं उन सबको पूरा करूंगा।
PM मोदी के भाषण की मुख्य बातें:
- विदेश में रहने वाले हर भारतीय में यह विश्वास आया है कि अगर वह संकट में फंसा तो भारत सरकार उसे वापस ले जाएगी।
- देश में भ्रष्टाचार के खिलाफ एक लड़ाई चल रही है। पिछले एक साल में करीब एक
- पहले की सरकार के मुकाबले सारे काम दो-तीन गुना रफ्तार से आगे बढ़ रहे हैं।
- पहले एविएशन पॉलिसी नहीं थी जिसे मोदी सरकार ने बनाया है।
- आज देश में साढ़े चार सौ हवाई जहाज कार्यरत हैं। 70 साल की यात्रा में सिर्फ 450 हवाई जहाज और एक साल में नौ सौ हवाई जहाजों का ऑर्डर दिया गया है।
- डायरेक्ट ट्रांसफर से हमने गरीबों का 57 हजार करोड़ रुपये बचाया है।
- हमारी नीति है कि हवाई चप्पल पहनने वाला व्यक्ति भी हवाई जहाज में चल सके।
- देश में नया विश्वास पैदा हुआ है उसने नई आशा को जन्म दिया है।
- देश ने जिस उम्मीद के साथ मुझे बैठाया है मैं उस उम्मीद को खरोंच नहीं आने दूंगा।
- घोटाले की लंबी लिस्ट की वजह से देश को नुकसान पहुंचा है।
- भारत में आज एक या दो दिन में पासपोर्ट बन जाते हैं।
- पीएम ने कहा कि हिंदुस्तान के लोग जो ठान लेते हैं वो करके ही दिखाते हैं।
- उन्होंने कहा कि मैं चाय वाला हूं जानता हूं कि 90 पैसे में चाय भी नहीं मिलती है लेकिन सरकार ने 5 लाख रुपये की हेल्थ बीमा योजना दी है।
- हिंदुस्तान के अखबारों ने हमारी हेल्थ बीमा योजना को मोदी केयर का नाम दिया है।
- बजट में हमने एक ऐसी योजना का ऐलान किया जो पूरी दुनिया का ध्यान खींच रही है।
- सरकार पूरे देश में अंधेरे में रह रहे घरों में मुक्त बिजली देने का काम रही है।
- बदले हुए भारत में अब सरकार घर पर जाकर गरीब को गैस कनेक्शन दे रही है।
- सरकार तो वही है लोग वही हैं वही फाइल है वही बाबू हैं लेकिन नतीजे कुछ और आ रहे हैं।
- हम अनावश्यक कानूनों को खत्म करके व्यवस्था में सुधार ला रहे हैं।
- पीएम मोदी ने कहा कि आज अपने सामने मैं मिनी इंडिया को देख रहा हूं। देश के अलग-अलग कोनों से आए भारतीय अलग-अलग क्षेत्रों में काम करने वाले भारतीय एक भव्य तस्वीर का निर्माण कर रहे हैं।
- सवा सौ करोड़ देशवासियों को लेकर आज भारत न्यू इंडिया के सपनों के लिए आगे बढ़ रहा है।
- हालातों से हार नहीं मानना हमारा जज्बा है।
- रास्ता कितना भी कठिन हो हालात कितने भी मुश्किल हों लेकिन हम हार नहीं मानते हैं।
- भारत आज भी पूरी बुलंदी के साथ आगे बढ़ रहा है।
- हम अपने रीति-रिवाज और परंपरा के साथ दूसरी की संस्कृति का भी पूरा सम्मान करते हैं।
- हम पूरे विश्व को एक परिवार मानकर चलने वाले लोग हैं।
- ओमान के सुल्तान को शुभकामनाएं दी हैं।
- मुझे खुशी है कि ओमान सरकार आपके हुनर का सम्मान करती है।
- ओमान में रहने वाले करीब 8 लाख भारतीयों ने यहां के विकास में अपना योगदान दिया है।
- भारत की तरक्की को आज पूरी दुनिया सलाम कर रही है।
- ओमान खाड़ी देशों में सबसे निकटतम भारत का पड़ोसी है।
- ओमान के साथ भारत के रिश्तों में एक नयी ऊर्जा आयी है।
- खाड़ी देशों की रूचि लगातार भारत की ओर बढ़ती चली जा रही है।
बता दें कि पीएम मोदी का यह पहला ओमान दौरान है। यहां करीब 8 लाख भारतीय रहते हैं। ओमान की कुल आबादी 44 लाख के आसपास है जिनमें 20 फीसदी तादाद भारतीयों की है। ओमान करीब मध्य प्रदेश राज्य जितना बड़ा है। यहां का क्षेत्रफल तीन लाख नौ हजार वर्ग किलोमीटर है।
गौरतलब है कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त अरब अमीरात में आयोजित वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में हिस्सा लिया था। इस दौरान अपने संबोधन में उन्होंने कहा था कि इस समिट के 6वें एडिशन में चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाने के लिए 125 करोड़ भारतीयों की तरफ से शुक्रिया।
पीएम ने सम्मेलन के दौरान आनंद के द्वार तक पहुंचने का मंत्र भी दिया। मोदी ने कहा हमें 6 R का पालन करने की आवश्यकता है। रिड्यूसरेस्क्यू रीसाइकलरिकवर रीडिजाइन और रीमैन्युफैक्चर को फॉलो करें जो हमें आनंद के द्वार तक पहुंचा सकता है।प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा बीते 25 वर्षों में भारत में मातृ मृत्यु दर एक तिहाई की कमी देखी गई तो वहीं विश्व में यह आधी हो चुकी है। तकनीक तो विचारों की तरह तेजी से बदल रही है। तकनीक ने लोगों के जीवन में अभूतपूर्व परिवर्तन आ गया है।उन्होंन कहा विकास का पहलू ये भी है कि पाषाण युग से औद्योगिक क्रांति के सफर में हजारों साल गुजर गए। उसके बाद संचार क्रांति तक सिर्फ 200 वर्षों का समय लगा। और वहां से डिजिटल क्रांति का फासला कुछ ही सालों में तय हो गया।
लोग पूछते हैं कि मोदी जी कब होगा?
इससे पहले प्रधानमंत्री ने दुबई के आपेरा हाउस में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित करते हुए कहा पिछले चार साल में भारत का आत्मविश्वास बढ़ा है। अब भारत विकास की नई ऊंचाइयां छू रहा है। पहले लोग पूछते थे कि होगा या नहीं होगा? आज पूछते हैं कि मोदी जी बताओ कब होगा। पहले निराशा के दिन भी हमने देखे हैं। आज विश्वास है कि होगा तो अभी होगा।प्रधानमंत्री यूएई से हमारा रिश्ता सिर्फ कारोबार का नहीं है। यह एक पार्टनरशिप है। खाड़ी देशों के विकास में यहां रहने वाले 30 लाख भारतीयों ने भी अहम योगदान किया है। वह उनके सपनों को पूरा करने के लिए मिलकर काम करेंगे। दुबई में मिनी भारत बसता है। संबोधन के दौरान कई बार मोदी-मोदी और भारत माता की जय के नारे लगे।
हिंदू मंदिर का शिलान्यास किया
प्रधानमंत्री मोदी ने सम्मेलन को संबोधित करने से पहले दुबई के ओपेरा हाउस से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हिंदू मंदिर का शिलान्यास किया। यह अबू धाबी में बनाया जाने वाला पहला हिंदू मंदिर है। निर्माण के लिए अबुधाबी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायद अल नहयान को धन्यवाद देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा यह पवित्र स्वामीनारायण मंदिर मानवता और सद्भाव के लिए प्रेरक और भारत की पहचान का माध्यम बनेगा। 2020 तक यह मंदिर तैयार होगा। प्रधानमंत्री मोदी यूएई के उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री मोहम्मद बिन राशिद अल मकतुम से भी मुलाकात की। दोनों नेताआें के बीच व्यापार निवेश और सुरक्षा सहयोग पर चर्चा हुई।
विनाश नहीं विकास के लिए हो तकनीक का इस्तेमाल : प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दुबई में वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट को संबोधित करते हुए मिसाइल और बम में बढ़ते वैश्विक निवेश पर चिंता व्यक्त की। मोदी ने कहा हर तरह के विकास के बाद भी गरीबी और कुपोषण का खात्मा बाकी है। वहीं दूसरी ओर हम धन का बड़ा हिस्सा समय और संसाधन मिसाइल और बमों पर खर्च कर रहे हैं। तकनीक का इस्तेमाल विकास के लिए होना चाहिए विनाश के लिए नहीं। हमें भविष्य की समस्याओं को मिलकर खत्म करना होगा।प्रधानमंत्री ने कहा बढ़ती आबादी के चलते दुनिया की 9.5 प्रतिशत आबादी गरीबी रेखा के नीचे जिंदगी गुजार रही है। गरीबी बेरोजगारी शिक्षा घर और मानव आपदाओं जैसे कई चुनौतियां हैं। प्रधानमंत्री ने आतंकियों की भर्ती के लिए साइबर स्पेस का इस्तेमाल होने पर भी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कुछ लोग तकनीक का इस्तेमाल साइबर संसार को कट्टरपंथी बनाने के लिए कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने तकनीक के सही इस्तेमाल के लिए दुबई सरकार की भी तारीफ की।दी ने कहा कि यहां के रेगिस्तान बदल गए यह चमत्कार है। दुनिया के सामने दुबई ने एक उदाहरण पेश किया है। साथ ही प्रधानमंत्री ने आधार के जरिए आठ अरब डॉलर बचाने और डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने की उपलब्धियों का भी जिक्र किया। भारत छठवें वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट में मेहमान देश था। इस सम्मेलन में 140 देशों के चार हजार प्रतिभागी पहुंचे थे। मुख्य अतिथि मोदी ने कहा यह सिर्फ मेरे के लिए गर्व का मौका नहीं है बल्कि भारत के 125 करोड़ लोगों को मैं इस सम्मेलन का मुख्य अतिथि कहता हूं।
दिया 6 R का फार्मूला
प्रधानमंत्री ने कहा आज के समय में इस रास्ते पर महत्वपूर्ण कदम हैं। छह आर यानी रिड्यूस रीयूज रीसाइकल रिकवर रीडिजाइन रीमैन्युफैक्चर। इस छह कदम से हम जिस मंजिल पर पहुंचेंगे वह आनंद की होगी।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

Related Posts you may like

mison 2017

आपका शहर

विज्ञापन

cctv lucknow

Like us on Facebook

विज्ञापन

mison 2017