अब यहां रुक गई कंडक्टर भर्ती की फाइल इस वजह से उलझ गया ये मामला

June 11, 2018, 04:46 PMYug Jagran
image

युग जागरण न्यूज़ नेटवर्क

पूर्व कांग्रेस सरकार के समय से ही विवादों में रही कंडक्टर भर्ती की फाइल अब सचिवालय में रुक गई है। पथ परिवहन निगम ने 4 जून को कंडक्टरों की तैनाती की फाइल सरकार को मंजूरी के लिए भेजी है लेकिन अभी तक इसे स्वीकृति नहीं मिली। बताया जा रहा है कि चहेतों को मनपंसद स्टेशन देने के कारण यह मामला उलझ गया है। इस कारण फाइल आगे नहीं बढ़ पाई है। इधर 1235 नए कंडक्टर जिनका निगम प्रबंधन ने सत्यापन कर दिया है वे अपनी पोस्टिंग का इंतजार कर रहे हैं। बीते वर्ष सितंबर 2017 में कंडक्टर भर्ती की प्रक्रिया शुरू हुई। परीक्षा होने के बाद हिमाचल में विधानसभा चुनाव के कारण आचार संहिता के चलते यह मामला लटक गया था। सत्ता परिवर्तन के बाद भाजपा ने इस भर्ती की जांच कराई। लेकिन अनियमितताएं न पाए जाने के कारण परिणाम घोषित कर दिया गया। 29 जून तक निगम प्रबंधन उत्तीर्ण अभ्यर्थियों का सत्यापन करता रहा। 1 जून से इन नए कंडक्टरों को बसों में चढ़ाया जाना था लेकिन 10 दिन बीत जाने के बाद भी इन्हें पोस्टिंग नहीं दी गई है। उधर परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा कि फाइल सचिवालय में आई है। अभी देखी नहीं है। दो तीन दिन के भीतर नए कंडक्टरों को पोस्टिंग लेटर जारी हो जाएंगे। एचआरटीसी में कंडक्टरों की कमी चल रही है। 300 बसें विभिन्न डिपुओं में खड़ी हैं। इधर सरकार की लेटलतीफी के चलते परिवहन निगम को प्रतिदिन लाखों का घाटा हो रहा है।

अपनी प्रतिक्रिया दें

महत्वपूर्ण सूचना

भारत सरकार की नई आईटी पॉलिसी के तहत किसी भी विषय/ व्यक्ति विशेष, समुदाय, धर्म तथा देश के विरुद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी दंडनीय अपराध है। इस प्रकार की टिप्पणी पर कानूनी कार्रवाई (सजा या अर्थदंड अथवा दोनों) का प्रावधान है। अत: इस फोरम में भेजे गए किसी भी टिप्पणी की जिम्मेदारी पूर्णत: लेखक की होगी।

Related Posts you may like

mison 2017

आपका शहर

विज्ञापन

Like us on Facebook

विज्ञापन